Funny Story In Hindi. Funny Kahani.

हरियाणा वाले से दोस्ती । Funny Kahani । Funny Story In Hindi

Funny Story In Hindi – हरियाणा वाले से दोस्ती

एक बार की बात है यूपी के दो लड़के अपने परिवार वालों की प्रताड़ना के कारण घर छोड़कर भाग जाते हैं। प्रतिदिन के ताने सुन – सुन वे बोर हो चुके थे फिर उन्होंने इस समस्या से निदान पाने के लिए घर छोड़कर भागने का रास्ता सोच। रात का समय था। वे रेलवे स्टेशन पर पहुंचे वहां कोई नहीं था केवल एक लड़का वहां बैठा था जो खुद भी अपने घरवालों से तंग आकर अपना घर छोड़ भाग आया था। वह दोनों भी उसी के साथ जाकर बैठ गए एक दूसरे से बातें करने के बाद उन्हें पता लगा कि वह लड़का भी अपना घर छोड़कर हरियाणा से भाग आया है।

अब तीनों एक ही कश्ती पर सवार थे। घर से भाग तो आए थे लेकिन किसी के पास रात गुजारने और खाना खाने के लिए पैसे नहीं थे। तीनों ने भूखे – प्यासे कैसे ना कैसे रात गुजारी। सुबह होते ही वे खाने के लिए लोगों के घर – घर जाकर मदद मांगने लगे लेकिन हर कोई उन्हें यह कहकर भगा देता कि इतने हट्टे – कट्टे हो फिर भी कमा कर नहीं खा सकते जो भिख मांगने आ गए। उन्होंने कई घरों के दरवाजे खटखटाएं लेकिन सभी का यही जवाब था।

यूपी वाले लड़कों में से एक को आईडिया आया, उसने कहां, हमें कोई भी ऐसे खाना नहीं देगा इसके लिए एक योजना बनानी होगी। बाकी दोनों ने पूछा क्या योजना है? उसने कहां, हमें लोगों को राजी करने के लिए कोई उद्धरण बनाना होगा, जिसकी अंतिम कड़ी एक – दूसरे से मिलती हो। उन्होंने कहा समझ गए।अब वे दोबारा किसी के घर चले गए।

पहला बोला- कुछ भिक्षा घाल माई….
दूसरा बोला- तेरे जियो भतीजे – भाई….
हरियाणा वाला खामोश खड़ा रहा कुछ नहीं बोला।

अंदर से एक औरत आई और उसने उन्हें भगा दिया। दोनों यूपी वाले लड़के हरियाणा वाले पर बहुत गुस्सा हुए। उन्होंने कहां, “यार तू तो कुछ बोलता ही नहीं है, ऐसे कौन खाना देगा? हरियाणा वाला बोला चलो ठीक है अब मैंने भी एक कड़ी बना ली चलो दूसरे घर चलो। तीनों दूसरे घर जाकर खड़े हो गए।

पहला बोला- कुछ भिक्षा घाल माई….
दूसरा बोला- तेरे जियो भतीजे – भाई…..
हरियाणा वाला बोला- बाहर आकर देख खड़े तेरे तीन जमाई……

अंदर से एक बूढ़ा अपने हाथ में लाठी लेकर भागता हुआ आया। उसे देखते ही तीनों ऐसे भागे जैसे चूहा, बिल्ली को देख कर भागता है। दोनों यूपी वाले हरियाणा वालों पर बहुत गुस्सा हुए। उन्होंने कहां, “यार तुझे ऐसी बेतुकी बात अपने मुंह से निकालने की क्या जरूरत थी? हरियाणा वाला बोला, यार तुमने ही तो कहा था कड़ी से कड़ी मिलनी चाहिए मैंने मेरे दिमाग में यही कढ़ी बनी तो मैंने बोल दी, जभी तो मैं चुपचाप खड़ा था।

देखते देखते रात होने लगी थी अब उनके आगे एक और समस्या आ गई कि रात कहां गुजारे? वे एक घर के आगे जाकर खड़े हो गए तीनों को खड़ा देख एक आदमी घर से बाहर आया।

आदमी – हां बोलो क्या समस्या है?
एक लड़का बोला – जी क्या हमें रात गुजारने के लिए आपके घर में जगह मिल सकती है?
आदमी – नहीं भाई यह बहन – बेटियों का घर है।

वे तीनो वहां से चले गए। दूसरे घर पर गए वहां भी उनको यही जवाब मिला “यह बहन – बेटियों का घर है”। तीसरे घर गए वहां भी उन्हें वही जवाब मिला “बहन – बेटियों का घर है। अब वे दोनों यूपी वाले हरियाणा वाले पर दोबारा चिढ़ गए और बोले “यार तू तो कुछ बोलता ही नहीं है सारी मेहनत हम करें रात तू गुजारे। तूभी तो किसी से मदद मांग। हरियाणा वाला बोला ठीक है अब तुम कुछ मत बोलना अब मैं मदद मांग लूंगा। चलो ! फिर तीनों एक घर के आगे जाकर खड़े हो गए। घर में से एक आदमी बाहर आया।

आदमी – हां भाई क्यों खड़े हो यहां पर?
हरियाणा वाला – जी क्या यह बहन – बेटियों का घर है?
आदमी – हां क्या हुआ?
हरियाणा वाला – जी सच में यह बहन – बेटियों का घर है?

आदमी – अबे हां तुझे काम क्या है वह बता?
हरियाणा वाला – जी कुछ नहीं रात काटनी थी।

यह सुनते ही घर का मालिक उनके पीछे ऐसे भागा मानो हाथ में आ गया तो जान से ही मार देगा। वे तीनों भागते – भागते बहुत दूर पहुंच गए। अब दोनों यूपी वालों ने सोचा भाई इस हरियाणा वाले से पीछा छुड़वा लो सब ठीक हो जाएगा। दोनों हरियाणा वाले से पीछा छुड़वा कर भागने लगे लेकिन वह भी पक्का ढिट पीछे-पीछे हो लिया।

हरियाणा वाले से दोस्ती की कहानी आपको कैसी लगी कृपा कॉमेंट के माध्यम से जरूर बताए ।

Related Posts

5+ मजेदार हास्य कहानियां

मुल्ला नसरुद्दीन की 3 मजेदार हास्य कहानियां

बिरबल को “पाद” मारने की सजा

सिंह पछाड़ हास्य कहानी

मोटी को मिला पति

2 thoughts on “हरियाणा वाले से दोस्ती । Funny Kahani । Funny Story In Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *